श्री राम के मंदिर के निर्माण में प्रत्येक घर से धन संग्रह हो -प्रदीप पाण्डेय

देवरिया। श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण निधि समर्पण अभियान के सदस्यों के कार्यशाला का आयोजन आज रुद्रपुर मोड़ के पास संम्बध लान स्थित केन्द्रीय कार्यालय पर हुआ। कार्यशाला को सम्बोधित करते हुये विश्व हिन्दू परिषद के प्रांत संगठन मंत्री प्रदीप पाण्डेय ने कहा कि अयोध्या में श्री राम मंदिर के मामले में जो कोर्ट ने निर्णय दिया वह किसी के पक्ष में नहीं, किसी विपक्ष में नहीं। यह भारत की प्राचीन संस्कृति के पक्ष का निर्णय है। तभी से श्री राम मंदिर निर्माण समिति ने यह तय किया था कि मंदिर सरकार के पैसे से नहीं बल्कि हिंदू समाज के पैसे से बनेगा। इसी क्रम में श्री राम मंदिर निर्माण समिति अपने सभी सहयोगी संगठनों के साथ मिलकर अधिक से अधिक लोगो से सम्पर्क कर मंदिर के निर्माण के लिये समर्पण राशि एकत्रित करेगी। 492 वर्षों के लंबे संघर्ष के बाद भगवान श्री राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ है।


हमारा सौभाग्य है कि भगवान श्री राम के मंदिर के निर्माण में वर्तमान पीढ़ी को अपनी सहभागिता निभाने का मौका मिल रहा है। आने वाले वर्षों में हमें यह कहते हुए गौरव का अनुभव होगा कि भव्य श्री राम मंदिर का निर्माण हमारे सामने और सहभागिता से हुआ है। इससे भी अधिक गौरव की बात यह है कि यहां के विश्वविख्यात सेंड स्टोन का उपयोग राम मंदिर के निर्माण में हो रहा है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार मुक्ति आंदोलन में भारत के प्रत्येक जन-जन की भावना भगवान श्री राम एवं उसके आस्था केंद्र से जुड़ी हुई थी।उसी प्रकार इसके निर्माण का दायित्व भी प्रत्येक हिंदू का है। इसलिए सब लोग मिलकर इसके निर्माण में अपनी सहभागिता निभाएं तथा जन-जन के आदर्श भगवान श्री राम के मंदिर के निर्माण में प्रत्येक हिंदू घर से धन संग्रह हो। प्रत्येक व्यक्ति से सामर्थ्य अनुसार ही धनराशि लेने की योजना है। समिति का निर्माण न्याय पंचायत स्तर तक हो चुका है इसलिये 15 जनवरी से 15 फरवरी तक चलने वाले इस अभियान में गांव-गांव, ढाणी- ढाणी कार्यकर्ता धन संग्रह के लिए टोली बना कर जाएं। पूरे भाव के साथ विषय को समझाकर हिंदू आस्था के प्रतीक श्री राम मंदिर के निर्माण में अधिक से अधिक धन संग्रह की योजना बनायी जाये।समर्पण राशि को जुटाने के लिए 10,100 और 1000 रुपए के कूपन बनाए गये हैं| वहीं 20000 से ऊपर दान करने पर रसीद दी जाएगी| यह राशि नियमों के तहत चेक द्वारा ही ली जाएगी| कार्यशाला में प्रमुख रूप से महन्थ परमात्मा दास, तारकेश्वर शाही,वंशराज पाण्डेय, वीरेन्द्र जी,दीपेन्द्र जी,पूर्व एमएलसी महेन्द्र यादव,नपाध्यक्ष अलका सिंह,डॉ अजय मणि त्रिपाठी, प्रेम अग्रवाल,अम्बिकेश पाण्डेय,विन्देश पाण्डेय,जितेन्द्र सिंह,रामेश्वर तिवारी,एन के सिंह,श्रीराम जी,सुमन तिवारी,पूनम मिश्रा, पूनम सिंह आदि रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button