अटल सभागार का नाम बदलने का विरोध

दोषियों पर कार्यवाही के लिए अधिशासी अधिकारी को लिखा पत्र

देवरिया । टाउन हाल स्थित अटल सभागार में मूर्ति रखने और सभागार का नाम अज्ञात लोगों द्वारा बदलने के विरोध में भाजपा कार्यकर्ताओं और सभासदों ने नगर पालिका सभागार में बैठकर इस घटना की निन्दा किया और इस कृत्य के दोषियों पर कार्यवाही का मांग पत्र अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को दिया। इस दौरान बैठक में सभासद दिनेश शुक्ला ने कहा कि नगर पालिका बोर्ड द्वारा अटल जी के नाम पर प्रस्ताव पास कर सभागार का नाम रखा गया था।लेकिन कुछ शरारती तत्वों द्वारा सदन की गरिमा को ठेस पहुचाते हुये लोकतंत्र की हत्या करने का प्रयास किया गया है,जो हमे स्वीकार नही है। इस घटना की जानकारी पार्टी के जिला नेतृत्व,प्रदेश नेतृत्व और राष्ट्रीय नेतृत्व को दे दिया गया है।
पूर्व जिलाउपाध्यक्ष अजय उपाध्याय ने कहा कि ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिये।भारत रत्न अटल जी का अपमान हर भाजपा कार्यकर्ता का अपमान है। जिलाकार्यसमिति सदस्य पवन मिश्रा ने कहा कि इस घटना से भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता आहत है।इसके दोषियों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिये। इस दौरान जितेन्द्र पाण्डेय,नवीन सिंह,सभासद गोविन्द चौरसिया,धनुषधारी मणि, अम्बिकेश पाण्डेय,सभासद धर्मेंद्र सिंह,सभासद श्याम सुंदर कन्नौजिया,विजेन्द्र चौहान रहे। वही होमक्वारंटीन चल रहे भाजपा जिलाध्यक्ष अंतर्यामी सिंह ने मीडिया प्रमुख अम्बिकेश पाण्डेय के हवाले इस अवैधानिक कृत्य की निन्दा करते हुये कहा कि सभागार का नामकरण और मूर्ति स्थापना नगर पालिका प्रशासन के क्षेत्र में आता है।समाचार पत्रों के माध्यम से इस घटना की जानकारी हुयी है।भारतीय जनता पार्टी ऐसे किसी भी अवैधानिक कार्य को प्रमाणिकता नही देती।इस घटना की जांच करा दोषियों पर कार्यवाही करने की मांग भारतीय जनता पार्टी देवरिया करती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button