अर्थी बाबा ने पुलिस कर्मियों के हित की मांग की

गोरखपुर । समाजसेवी राजन यादव अर्थी बाबा ने कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय भारत सरकार को पत्र लिख कर यह मांग की है उत्तर प्रदेश पुलिस में अगर 50 वर्ष की उम्र पार कर चुके कांस्टेबल, इंस्पेक्टर रिटायर्ड करने की कार्यवाही से अगर किसी पुलिस कर्मी की मौत हार्ट अटैक से होता है या वह किसी मांशिक पीड़ा की वजह से आत्महत्या करता है तो जिम्मेदार पुलिस अधिकारी उस आदेश को लागू करने वाली सरकार व वो जिम्मेदार अधिकारी जो इस फैसलें में अपनी सहमति जताते है सभी के विरूद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्यवाही करे।
अर्थी बाबा ने कहा एक विधायक, सांसद, मंत्री 60 वर्ष से भी अधिक उम्र के उपर वेतन एवं पेंशन ले सकता है। पर जो पुलिस कर्मी कोरोना वायरस से लड़ने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है, उन्हे जबरन 50 वर्ष की उम्र में रिटायर्ड किया जा रहा है।
यह जनहित में अनुभवी पुलिस कर्मियों को रिटायर्ड करना उचित नही हुआ। इस आदेश को तत्काल निरस्त करते हुए हटाया जाए। इस आदेश की वजह से कई पुलिस कर्मी हार्ट के मरीज बन गये है। अगर इनको जबरन रिटायर्ड किया गया तो इनके परिवारजन को नौकरी दी जाए। ताकि इनके परिवार का भी भरण पोषण चल सके। अतः हमारी उत्तर प्रदेश सरकार से यह निवेदन है की जबरन रिटायर्ड करने के आदेश को निरस्त करते हुए पुलिसकर्मियों के साथ मानवता का परिचय दिया जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button