शहीद जवान की बेटी की शादी में पत्नी संग पहुंचे जिलाधिकारी

मझौलीराज, देवरिया। शहीद जवान की बेटी का मान रखते हुए जिलाधिकारी देवरिया ने उसकी शादी में अपनी पत्नी संग पहुंच कर आर्शीवाद दिया। शहीद जवान की बेटी ने जिलाधिकारी को अपना कन्यादान करने के लिए पत्र लिखा था। जवान की जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में तैनाती के दौरान एक हादसे में मौत हो गई थी।

सलेमपुर क्षेत्र के मझौलीराज के किला चौराहा के रहने वाले अजय कुमार रावत बीएसएफ की 88वीं बटालियन में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत थे। जम्मू के उधमपुर में तैनाती के दौरान 25 अगस्त 2018 को एक हादसे में उनकी मौत हो गई थी। उनके परिवार में पत्नी मीरा देवी के अलावा दो बेटे अभिलाष और अश्वनी एवं एक बेटी शिवानी रावत हैं। शिवानी की शादी 1 दिसंबर को होनी तय थी। इस संबंध में 29 नवंबर को शिवानी ने पत्र लिख कर डीएम से अनुरोध की । शिवानी ने बताया उसकी इच्छा है कि डीएम उसका कन्यादान करें। शहीद जवान की बेटी की इच्छा का मान रखते हुए डीएम ने उसे आश्वस्त किया कि वह उसकी शादी में अपनी पत्नी समेत आशीर्वाद देने जरूर आएंगे।

मंगलवार की शाम शिवानी की बारात आई थी। रात्रि में करीब 9 बजे डीएम अमित किशोर पत्नी प्रतिमा किशोर के साथ मझौलीराज पहुंचे और वरमाला के बाद दोनों ने शिवानी के साथ ही दूल्हे को भी आशीर्वाद व उपहार दिया। शादी में जिलाधिकारी व उनकी पत्नी के पहुंचने से जवान की पत्नी मीरा भावुक हो गईं और उन्होंने अपने परिवार के साथ जिलाधिकारी का आभार जताया। जवान की बेटी शिवानी ने कहा कि डीएम साहब को पत्र लिख कर कन्यादान की गुहार लगाई थी। उन्होंने परिवार के साथ आकर मुझे आशीर्वाद दिया बहुत अच्छा लगा। जिलाधिकारी रात करीब 11 बजे तक मझौलीराज में शिवानी की शादी में उपस्थित रहे।

वही जिलाधिकारी ने कहा कि शहीद जवान की बेटी शिवानी की इच्छा थी कि उसकी शादी में शामिल हो, और हम सपरिवार उसकी शादी में शामिल हुए है। जिलाधिकारी ने बताया कि सेना एवं पैरा मिलिट्री फोर्स के अधिकारी, जवान, शहीद व दिवंगत जवानों के परिवार के सदस्यो की सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रशासन व डीएम की होती है। उनकी किसी भी प्रकार की समस्याओं का समाधान करना भी हमारा कर्तव्य होता है। शिवानी की इच्छा थी की हम उसके शादी में शामिल हो तो हम सपरिवार शामिल होकर अपना फर्ज निभाए है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button