जिलाधिकारी ने बरहज तहसील में सम्पूर्ण समाधान दिवस में सुनी जन समस्यायें

– समयबद्व व गुणवत्ता के साथ निस्तारण करने के दिए निर्देश
– शिथिलता के लिये किया आगाह
– इस सम्पूर्ण समाधान दिवस में 142 प्रकरण हुए प्राप्त, 27 का मौके पर हुआ निस्तारण

देवरिया। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने बरहज तहसील में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में जन समस्याओं की सुनवायी के दौरान स्पष्ट रुप से निर्देश दिया है कि सभी सन्दर्भो का निस्तारण गुणवत्ता व समयबद्धता के साथ के साथ सभी अधिकारी सुनिश्चित करें, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही कदापि न बरतें। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन बरहज तहसील में सम्पूर्ण समाधान दिवस में पुलिस अधीक्षक डाँ श्रीपति मिश्र के साथ जन फरियादों की सुनवायी करते हुए कहा कि राजस्व, विकास एवं पुलिस विभाग से जुडे सभी अधिकारी जिन प्रकरणों में संयुक्त रुप से निराकरण की आवश्यकता हो, उसमें आपसी समन्वय रखते हुए उन मामलो का त्वरित निस्तारण सुनिश्चित करायें।

जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने खंड विकास अधिकारी भागलपुर को परिवार रजिस्टर की नकल दिये जाने के एक प्रकरण में निस्तारण सी श्रेणी होने पर कड़ी फटकार लगायी। जिलाधिकारी ने कहा कि इस तरह की स्थिति किसी भी दशा में क्षम्य नही होगी। प्रकरणों का निस्तारण गुणवत्ता के साथ होना चाहिये। उन्होने सुधार लाये जाने हेतु सचेत किया। अन्त्योदय कार्डो के सत्यापन कार्य को भी शीघ्रता से निस्तारित किये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्य को पूरी पारदर्शिता से सुनिश्चित किये जाये और जो भी अपात्र हो उनकी जगह पात्रो को सम्मिलित किया जाये। उन्होने इसके लिये इस कार्य को पंचायत सचिवों को तत्परता के साथ किये जाने का निर्देश दिया।

जिला पंचायत राज अधिकारी आनंद प्रकाश श्रीवास्तव को इसका प्रभावी अनुश्रवण एडीओ पंचायत के द्वारा कराये जाने का निर्देश दिया। ग्राम पैना की एक फरियादी द्वारा परिवार रजिस्टर की नकल संबंधी प्रकरण रखा गया, जिस पर जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि दो घंटे के अन्दर नकल निर्गत होनी चाहिये। पुलिस अधीक्षक डाँ श्रीपति मिश्र ने पुलिस विभाग से जुडे मामलो की सुनवायी किये व पुलिस विभाग के अधिकारियों एवं थानाध्यक्षो को प्राप्त सभी सन्दर्भो का निस्तारण प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया।

इस दौरान कुल 142 प्रकरण आये, जिसमें से 27 का निस्तारण मौके पर हुआ। शेष अन्य ऐसे मामले जिसमें साक्ष्य व जांच आदि की आवश्यकता पायी गयी उन अनिस्तारित प्रकरणो को संबंधित अधिकारियों को एक सप्ताह के अंदर निस्तारण के निर्देश के साथ सौंपा गया। प्राप्त हुए आवेदन पत्रों में राजस्व की 82, जिसमें 24 निस्तारित किये गये, पुलिस विभाग के 21, विकास विभाग के 13 तथा अन्य विभागो से सम्बन्धित 26 प्रकरण प्राप्त हुए, जिसमें से 3 का निस्तारण मौके पर ही किया गया। सम्पूर्ण समाधान दिवस में ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुमित यादव, तहसीलदार, क्षेत्राधिकारी, परियोजना निदेशक संजय पाण्डेय, डीसी मनरेगा गजेन्द्र त्रिपाठी, समाज कल्याण अधिकारी रामपाल यादव, सीवीओ डा विकास साठे, डीएसओ विनय कुमार सिंह, डीडी कृषि ए के मिश्र, बीएसए सन्तोष राय, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त राय सहित अन्य विभागो के अधिकारी, कर्मचारी, खंड विकास अधिकारी, थानाध्यक्ष गण आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button