उर्वरकों के दुकानो पर प्रवर्तन कार्य के लिए डीएम ने तहसीलवार गठित की संयुक्त टीम

प्रभावी रुप से छापेमारी किए जाने का दिए गए है निर्देश

देवरिया । जिला कृषि अधिकारी मुहम्मद मुजम्मिल ने बताया है कि जिलाधिकारी द्वारा जनपद में उर्वरकों की उपलब्धता एवं जमाखोरी, कालाबाजारी, अपमिश्रण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए उर्वरक निरीक्षकों एवं समस्त उप जिलाधिकारी की तहसीलवार संयुक्त टीम गठित की गयी है, जिसमें उप जिलाधिकारी बरहज एवं सलेमपुर के साथ जिला कृषि रक्षा अधिकारी एवं उप जिलाधिकारी रूद्रपुर के साथ भूमि संरक्षण अधिकारी तथा उप जिलाधिकारी भाटपाररानी के साथ जिला कृषि अधिकारी व उप जिलाधिकारी देवरिया के साथ उप कृषि निदेशक देवरिया की संयुक्त टीम गठित कर छापेमारी कराई गयी। जिनके द्वारा जनपद के उर्वरक विक्री केन्द्रों पर सघन छापेमारी कर उर्वरक के कुल 22 नमूने ग्रहित किये गये और 62 दुकानों पर सघन छापेमारी की गयी तथा 22 प्रतिष्ठान को निलम्बित किया गया है और 11 प्रतिष्ठान को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।

संयुक्त टीम द्वारा उर्वरक प्रतिष्ठानों पर रेट बोर्ड तथा स्टाक एवं वितरण रजिस्टर, कैश मेमों तथा पी0ओ0एस0 मशीन की जांच की गयी। उर्वरक विक्रेताओं को उचित मूल्य पर विक्री करने तथा दुकान के बाहर प्रत्येक दशा में स्टाक एवं रेट बोर्ड लगवाना था पी0ओ0एस0 मशीन से ही उर्वरको की ब्रिकी करने एवं टैगिंग इत्यादि न करने तथा पी०ओ०एस० मशीन से प्राप्त पर्ची कृषकों को उपलब्ध कराने से सम्बन्धित निर्देश भी दिये गये। उर्वरक प्रतिष्ठानों को कड़े निर्देश दिये गये कि किसी भी प्रकार की ओवर रेटिंग व टैगिंग न करें अन्यथा उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 एवं आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3/7 के अन्तर्गत विधि संगत कार्यवाही सम्पादित कर दी जाएगी। न्याय पंचायत स्तर पर तैनात प्रत्येक कर्मचारियों / अधिकारियों को निर्देश दिये गये है कि लगातार अपने न्यायपंचायत के अर्न्तगत स्थापित प्रत्येक दुकानों का प्रतिदिन निरीक्षण करते रहे। और यदि किसी भी प्रकार की कोई शिकायत प्राप्त होती है तो तत्काल उच्च स्तर पर अवगत कराये ताकि सम्बन्धित विक्रेता के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button