नवरात्रि महोत्सव सें भक्तिमय हुआ दुबई

दुबई – हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी “भोजपुरिया परिवार यूएई ” की ओर से नवरात्र के नौवें दिन 14 अक्टूबर को नवरात्रि महोत्सव का आयोजन दुबई के पांच सितारे होटल  काॅर्ल्टन पैलेस में किया गया जिसमें सैंकड़ों भक्त शामिल हुए। शारदीय नवरात्र के नौवीं दिन आयोजित इस महोत्सव का शुभारंभ वैदिक मंत्रोच्चार के बीच श्री गौरी गणेश पूजन के द्वारा प्रारम्भ किया।

वैसे तो सनातन धर्मावलम्बियों द्वारा आयोजित होने वाले सामाजिक, सांस्कृतिक व धार्मिक आयोजन की प्रथा पौराणिक काल से ही चली आ रही है, परन्तु वही आयोजन अगर भारत भूमि से सुदूर जब दुबई (सयुंक्त अरब अमीरात) में हो तो उसकी महत्ता और अधिक हो जाती है।

कार्यक्रम को वर्चूअली सम्बोधित करते हुए कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने भोजपुरिया परिवार द्वारा करोना काल में UAE में फँसे हुए मज़दूरों की मदद के लिए धन्यवाद और आभार प्रकट किया। सांसद डा. रामपतिराम त्रिपाठी ने कहा की भोजपुरिया समाज बहुत ही समृद्ध समाज है, हमारी लोक कला, बोली, संस्कृति की वजह से जैसे फ़िजी, त्रिनिदाद और मरिशस जैसे देशों में ना केवल संगठित लोग हैं, बल्कि इन देशों का नेतृत्व भी भोजपुरिया समाज के लोग कर रहे हैं। वैसे ही UAE में संगठित होकर समाज के लोगों की मदद करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। सलेमपुर से सांसद रवींद्र कुशवाहा ने UAE में रहने वाले भोजपुरी भाषी लोगों को नवरात्रि और दशहरा की शुबकामनाएँ दी।
कार्यक्रम को तुलसी मानस मंदिर हरिद्वार के संन्यासी स्वामी श्री कामेश्वर पुरी ने भी सम्बोधित किया। महोत्सव में बाल कलाकारों ने अपने मनमोहक श्रद्धा से भरे शौर्य पूर्ण प्रदर्शन से सभी का ध्यान आकृष्ट किया। पूरा परिसर एक आध्यात्मिक एवं सकारात्मक ऊर्जा से सराबोर था। अपने प्रस्तुति से उपस्थित श्रद्घालुओं को भावविभोर बनाए रखा।

बाल कलाकार के रूप में उपस्थित अन्नया, अन्विता,आस्था, आदिति, आकांक्षा, विधि, वैष्णवी, खुशी, शगुन, शारधा, विद्युत, आद्यान्त, सुशांत, समृद्धि, सूर्यवंश व वरूण की जितना भी प्रशंसा किया जाए कम है। इस महोत्सव में प्रवासी भारतीय लोक कलाकारों ने लोक संगीत सें पुरे मण्डल को भक्ति रंग में रंगें रखा। जहां श्रद्धालु भक्ति में लीन होकर देवी भजनों पर झूमते रहे। महोत्सव आयोजन में भोजपरिया परिवार यूएई के देवरिया ज़िले के निवासी अमरेन्द्र प्रताप सिंह, अजय शाही, शिवाजी गुप्ता, आंजनेय प्रताप सिंह, मिहिर सिंह, जयप्रकाश यादव प्रमुख रूप से रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button