विकास भवन के गांधी सभागार में निवर्तमान मुख्य विकास अधिकारी को दी गयी भावभीनी विदाई

जनपद में मिला स्नेह रहेगा यादगार, जो कभी भुलाया नही जा सकता : जीएन । मुख्य विकास अधिकारी के रुप में जी एन का है अतुलनीय योगदान : डीएम । मुख्य विकास अधिकारी की कार्य संस्कृति विशाल व्यक्तित्व का परिचायक : एसपी।

देवरिया। विकास भवन गांधी सभागार में जनपद से स्थानान्तरित निवर्तमान मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जीएन को भावभीनी विदाई दी गयी। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र एवं प्रशासनिक व विकास विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा माल्यार्पण, पुष्पगुच्छ, बुके, स्मृति चिन्ह उन्हे भेट की गयी। इस दौरान इन्हे कोरोना योद्धा सम्मान से भी नवाजा गया।

आयोजित इस समारोह के मुख्य अतिथि/ निवर्तमान मुख्य विकास अधिकारी जी एन ने देवरिया में मिले स्नेह व सम्मान के प्रति आभार जताते हुए कहा कि यहां मिला प्रेम सदैव यादगार रहेगा, इसे कभी भुलाया नही जा सकेगा। फूल मालाओं से लदे स्थानान्तरित मुख्य विकास अधिकारी जी एन ने जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक सहित सभी अधिकारियों, विभागो के प्रति कृतज्ञता जाहिर की। उन्होने कहा कि देवरिया में एक अच्छी टीम है, जो स्वयं अपनी जिम्मेदारियों को लेकर कार्य करतें हैं। सभी लोग कुछ न कुछ अच्छा ही करना चाहते है, इस जुनून को बरकरार रखने की जरुरत है। लोगो के प्रति संवेदनशीलता को बना कर रखें। उन्होने सभी के द्वारा किए गए कार्यो को भी याद रखते हुए सभी के प्रति कृतज्ञता जाहिर की।

जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने कहा कि मुख्य विकास अधिकारी के रुप में जी एन ने अतुलनीय योगदान दिया है। विकास भवन का कायाकल्प एक अद्भुत उपलब्धि है। निःसंदेह इन कार्यो में इनकी रचनात्मक परिकल्पना रही होगी, इससे उपयुक्त वातावरण विकसित हुआ है, जो अधिकारियों, कर्मचारियों के लिए कार्य करने हेतु एक बेहतरीन वातावरण सृजित करता है। इनमें एक अच्छी कार्य संस्कृति है, जो विभिन्न संवेदनशील कार्यो को भी चुनौती के रुप में लिया। चुनौतीपूर्ण कोविड काल से लेकर विकास व निर्माण कार्यो में इनका विशेष योगदान रहा है। पंचायत चुनाव में उप जिला निर्वाचन अधिकारी के दायित्वों का भी कुशलतापूर्वक निर्वहन किया, जिससे निष्पक्ष शान्तिपूर्ण चुनाव सम्पन्न हुआ, इसके लिए हम सभी इन्हे साधुवाद ज्ञापित करते है। कोविड काल में संसाधनो को बढाने में भी इनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही । विकास कार्यो में भी इनकी मेहनत एवं टीम भाव से किए गए कार्यो से जनपद की समेकित रैकिंग भी बेहतर हुई। जिलाधिकारी ने अपनी शुभकामनाएं भी इन्हे देते हुए इनके सफलतम व यशस्वी जीवन की कामना किए।

पुलिस अधीक्षक डाँ श्रीपति मिश्र ने कहा कि मुख्य विकास अधिकारी की कार्य संस्कृति उनकी विशाल व्यक्तित्व का परिचायक है। काम लेने की विलक्षण प्रतिभा इनमें है। स्वयं साथ रह कर कार्य लेने में प्रतिबद्ध रहे है। ये कठिन से कठिन चुनौतीपूर्ण कार्यो को भी करने में सक्षम हैं। उन्होने शुभकामना देते हुए कहा कि वे आगे भी अपने कर्तव्यों को ऊचाईं दें और वे सफलता प्राप्त करते हुए आदर्शो को प्रस्तुत करते रहें।

उल्लेखनीय है कि निवर्तमान मुख्य विकास अधिकारी का स्थानान्तरण जनपद देवरिया से जनपद कानपुर नगर में नगर आयुक्त पद पर हुआ है, जहां वे अपना कार्य भार ग्रहण कर चुके है। इस समारोह को अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुवर पंकज, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा आलोक पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी श्रवण कुमार राय, जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त राय, बीडीओ भलुअनी आलोक दत्त उपाध्याय, विकास भवन के ओएसडी अजय राय, देवकान्त, डीसीपीएम राजेश गुप्ता, सहायक अभियंता लघु सिचाईं पंकज राय ने इन्हे अपनी शुभकामनाएं दिए तथा अपने विचार रखते हुए बताया गया कि जनपद में निवर्तमान सीडीओ से काफी कुछ सीखने को मिला, उनका सपोर्ट मिला, इसके लिये हम सभी आभारी हैं।

विदाई कार्यक्रम का संचालन परियोजना निदेशक संजय पाण्डेय द्वारा किया गया। इस अवसर पर सीआरओ अमृत लाल बिन्द, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम सलेमपुर गुंजन द्विवेदी, एएसपी राजेश सोनकर, रुद्रपुर संजीव कुमार उपाध्याय, एएसडीएम ओम प्रकाश, एएसडीएम अरुण कुमार, क्षेत्राधिकारी श्रीयश, डीसी मनरेगा गजेन्द्र तिवारी, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण कमल किशोर, एएमए ज्ञानधन सिंह, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी मीनू सिंह, डीआईओएस देवेन्द्र गुप्ता, बीएसए सन्तोष राय, डिप्टी सीएमओ डा सुरेन्द्र सिंह, डिप्टी आरएमओ जितेन्द्र यादव, जीएमजीआईसी अनुराग यादव, विजय कुमार श्रीवास्तव, खंड विकास अधिकारी गण सहित विकास एवं प्रशासनिक विभागो से जुडे अन्य अधिकारी, कर्मचारी गण आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button