सड़क हादसे में चली गई पांच युवकों की जान

सगाई समारोह से लौट रहे थे कार में सवार नौ लोग

रूद्रपुर, देवरिया, कुशीनगर । कुशीनगर जिले के रामपुर बगहा कुटी में कार और ट्रैक्टर ट्राली की जोरदार टक्कर होने के कारण पांच युवको की मौत हो गयी जबकि चार युवक गंभीर रूप से घायल है। कार में सवार नौ युवकों में दूल्हा व उसके दो भाई भी शामिल थे जिसमें छोटे भाई की मौत हो गई है, जबकि दूल्हा और एक भाई गंभीर हैं। कुशीनगर जिले के रामपुर बगहा कुटी गांव के पास गुरूवार की रात एक सड़क हादसे में देवरिया जिले के रुद्रपुर कस्बे के पांच युवकों की दर्दनाक मौत हो गई। सभी युवक अपने दोस्त की सगाई समारोह से लौट रहे थे। कार सवार नौ युवकों में चार की हालत गंभीर है। जिनका इलाज मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में चल रहा है। घटना की सूचना मिलते ही रूद्रपुर कस्बे में कोहराम मच गया। सगाई में गए युवकों के घरों में मातम पसर गया।

मिली जानकारी के अनुसार, रूद्रपुर नगर पंचायत के शिवाला वार्ड के रामकृपाल वर्मा के बेटे मनीष वर्मा की शादी महराजगंज जिले में तय हुई है। गुरूवार को वर और बधू पक्ष के लोग कुशीनगर जनपद के रामकोला मंदिर में सगाई की रस्म को करने पहुंचे थे। इस सगाई के कार्यक्रम में दूल्हे के दोस्त भी गए थे। देर शाम सगाई के बाद रूद्रपुर लौट रही कार रामपुर बगहा कुटी के पास सामने से आ रही ट्रैक्टर ट्राली से टकरा गई। स्विफ्ट डिजायर कार में चालक सहित कुल नौ युवक सवार थे। टक्कर इतनी तेज थी कि कार के परखच्चे उड़ गए।

कार के अंदर सभी युवक फंस गए। वहा मौजूद लोगो ने काफी मशक्कत के बाद उन्हें कार से बाहर निकला। जिनमें से प्यारे लाल वर्मा (26) की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं रूद्रेश चौबे (19), अरबेज अंसारी (19), अभिषेक वर्मा (19), और जीत्तू मद्धेशिया (19) की मेडिकल कॉलेज गोरखपुर ले जाते समय मौत हो गई। जबकि गाड़ी चला रहे शिवकुमार, सोनू, मनीष, और पवन बुरी तरह घायल हैं, उनकी भी हालत गंभीर बनी हुई है। चारों घायलों का इलाज मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में चल रहा है। कार में दूल्हा मनीष अपने दोनों भाइयों अभिषेक और सोनू के साथ था। जिसमें छोटे भाई अभिषेक की मौत हो गई। सोनू और मनीष की हालत भी गम्भीर बनी है। इस हृदय विदारक घटना के बाद रूद्रपुर नगर पंचायत के चार वार्ड में मातम पसरा है। मृतक युवकों के घर लोगो की भीड़ उमड़ रही है।

एक ही झटके में तबाह हो गयी परिवार की खुशियां, जहां बजनी थी शहनाई वहां से उठी दो अर्थियां

सगाई के बाद जिस घर में शहनाई बजने वाली थी वहां दो जवान भाईयों की अर्थी उठती देख हर कोई रो पड़ा। दोनो चचेरे भाईयों की मौत से परिवार बर्बाद होने के कगार पर पहुंच गया है। पिता कि मौत के बाद दो भाईयों की मौत से परिवार एक दम टुट गया है। दोनो चचेरे भाईयों के पिता की भी मृत्यु हो चुकी है वही पति के बाद दो जवान बेटो की असमय मौत से जेठानी इंदु और देवरानी सुभावती की दुनिया ही उजड़ गयी है। दोनो मांओ की चीख पुकार सुनकर मौजूद हर किसी की आंखे नम और कलेजा फटा जा रहा है।

इंदू और सुभावती देवी ने पति के मौत के बाद मुश्किलों का सामना करते हुए अपने बेटों को पाला। मां तो ये सोची कि उनके बेटे उनके बुढ़ापे के सहारा बनेगे। लेकिन नियति को कुछ और मंजूर था। उनकी खुशियों को इस हादसे ने बर्बाद कर दिया। रूद्रपुर नगरपंचायत के शिवाला वार्ड निवासी इंदू देवी के पति रामकृपाल वर्मा की मौत कुछ साल पहले हो गयी थी। उनकी देवरानी सुभावती देवी के पति इंद्रजीत वर्मा की भी मौत हो गयी है। पति के मौत के बाद इंदू देवी अपने तीन बच्चो मनीष, सोनू, अभिषेक की परवरिश कर रही थी।

पति के मौत के बाद दोनो अपने अपने बच्चों के साथ मुश्किलों भरी जिंदगी बिताते हुए गुजर बसर कर रही थी। धीरे धीरे बच्चों के बडे होने के साथ उनकी जिन्दगी भी अब खुशहाल हो गयी थी। इंदू के बडे बेटे मनीष की शादी तय होने पर परिवार में खुशियां आ गयी थी। सगाई के कार्यक्रम के बाद घर लौट रहे पूरे परिवार को सडक़ हादसे से जो सदमा लगा है उससे उबरना अब मुश्किल हो गया है। इस हादसे में दो चचेरे भाईयों सहित पांच लोगो की मौत से पूरा नगर ही शोक में डुबा हुआ है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button