विधानपरिषद सदस्य ध्रुव कुमार त्रिपाठी ने किया बाबा गया दास की प्रतिमा का अनावरण

बरहज, देवरिया । बाबा गया दास टेक्निकल इंटर कालेज बरहज में महर्षि बाबा गया दास की प्रतिमा का अनावरण मंगलवार को कालेज परिसर में मुख्य अतिथि विधान परिषद सदस्य ध्रुव कुमार त्रिपाठी ने किया। कालेज के सेवानिवृत्त शिक्षकों, विद्यालय कर्मियों को अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया।
समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि ने कहा कि बाबा गया दास महान संत और समाज सेवी थे। जब समाज को शिक्षा की जरूरत थी तब उन्होने विद्यालय की स्थापना कर शिक्षा की अलख जगाई। वर्तमान व्यवस्था लोकहित को ध्यान में रखकर स्थापित हुई शिक्षा संस्थाओं को चलाने में असमर्थ बता ध्वस्त करने में जुटी हैं। व्यापारिक घरानों को यह व्यवस्था दी जा रही है। शिक्षा साधकों द्वारा स्थापित विद्यालयों को बंद करने पर व्यवस्था तुली हुई है। इस सम्मान को बचाने के लिए हर शिक्षक को एक जुट होना होगा। बच्चों के सामने प्रतिस्पर्धा का पहाड़ खड़ा है। उन्हें इसके मुकाबले के लिए तैयार करने की जिम्मेदारी शिक्षक समुदाय पर है। कोरोना काल में 50 लाख छोटे बड़े मान्यता प्राप्त स्कूलों के शिक्षको की स्थिति प्रवासी मजदूरों से भी ज्यादा खराब हो गई। उनकी सुधि किसी ने नहीं ली। समारोह को जिलाध्यक्ष अवधेश सिंह, प्राचार्य डा.अजय मिश्र, रमेश चंद्र सिंह, शिव सहाय बरनवाल, मिथिलेश सिंह, डीआईओएस देवेंद्र कुमार गुप्त, खड्गबहादुर यादव ने भी संबोधित किया। अध्यक्षता आंजनेय दास व संचालन सर्वेश दीक्षित ने किया। आभार प्रबंधक संजय बरनवाल ने व्यक्त किया। इस अवसर पर ज्ञानेश राय, माधव प्रसाद सिंह, नरेंद्र सिंह, ओमप्रकाश तिवारी, गोरखनाथ गुप्त, गणेश प्रसाद मिश्र, राजेश गुप्त, रामअधार गुप्त, मंगल मणि, दिनेश मणि त्रिपाठी, पूर्व नपाध्यक्ष वीरेंद्र गुप्त, अजित जायसवाल, मोहम्मद मुस्तफा, सावित्री राय, विंदेश्वर गिरी मौजूद रहे।

सम्मानित हुए शिक्षक

महर्षि बाबा गया दास की प्रतिमा अनावरण अवसर पर सेवानिवृत शिक्षकों, शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को मुख्य अतिथि एमएलसी ध्रुव कुमार त्रिपाठी ने अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया। कांलेज के शिक्षक रहे पूर्व मंत्री गोरख प्रसाद निषाद, विजय प्रकाश राव, सुधाकर तिवारी, स्वामीनाथ, जयप्रकाश, दीना देवी, पंचम यादव, विमलेश्वर पाठक, रामसूरत प्रसाद, अशोक सिंह, पूर्व प्रबंधक रणजीत सिंह को मुख्य अतिथि और प्रबंधक संजय बरनवाल ने सम्मानित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button