सपा ने देवरिया से पूर्व मंत्री ब्रह्माशंकर त्रिपाठी को दिया टिकट

कल तक चुनाव नही लड़ने की बात कह रहे थे पूर्व मंत्री

देवरिया। देवरिया उप चुनाव में समाजवादी पार्टी ने पूर्व मंत्री ब्रह्माशंकर त्रिपाठी को टिकट देकर मैदान में उतार दिया है।
हालाकी ब्रह्माशंकर त्रिपाठी चुनाव लड़ने से इंकार कर रहे थे मगर पार्टी प्रमुख ने इनको टिकट देकर उपचुनाव में मजबूती के साथ लड़ने को निर्देश दिया। पूर्व मंत्री ने बताया की राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर हम अपने निर्णय को बदलते हुए देवरिया सदर सीट से चुनावी मैदान में आए है। अब हम पूरी ताकत के साथ चुनावी मैदान में रहेगे।

पांच बार विधायक रहे है ब्रह्माशंकर त्रिपाठी

ब्रह्माशंकर त्रिपाठी पांच बार विधायक एवं दो बार उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके है। अपनी वकालत का पेशा छोड़ कर जनता की सेवा के लिए 1980 से सक्रिय राजनीति में रहे है। त्रिपाठी छात्र संघ की राजनीति से लेकर विधायक व मंत्री तक का सफर तय किये है।

ब्रह्माशंकर त्रिपाठी का राजनीतिक जीवन शानदार रहा है

ब्रह्माशंकर त्रिपाठी कालेज की पढ़ाई के समय से ही राजनीति करते आए है। देवरिया के बीआरडीपीजी काँलेज से बीए करने के बाद गोरखपुर विश्वविद्यालय से एलएलबी की पढ़ाई पूरा करने के बाद देवरिया कचहरी में वकालत शुरू किए। वकालत में मन नही लगने के कारण वो सक्रिय रूप से राजनीति शुरू कर दिए। सन् 1983 एवं 1988 में कसया के ब्लाक प्रमुख चुने गये। देवरिया कुशीनगर कोआपरेटिव बैंक के संचालक 1988 में बने। ब्रह्माशंकर त्रिपाठी 1989 व 1993 में कसया विधानसभा क्षेत्र से जनतादल से विधायक चुने गये। फिर 1991 में राम लहर में कसया से

वह चुनाव हार गये।

1996 में सपा की सदस्यता लिए और कसया से सपा के टिकट पर चुनाव लड़े व हार गये। इसके बाद 2002, एवं 2007 में कसया विधानसभा से समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधायक बने।

समाजवादी पार्टी ने प्रदेश सरकार में मंत्री बनाया

2003 के चुनाव में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी, मुलायम सिंह सरकार में वह कैबिनेट मंत्री बने।
2012 में कसया विधानसभा का परिमीसन के बाद भौगोलिक स्थिति बदल गयी और कुशीनगर सीट से पुनः विधायक बने एवं प्रदेश सरकार में मंत्री बने।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button