बलिया में पुलिस द्वारा निर्दोषों को फंसाने के विरोध में सुभासपा ने देवरिया में दिया ज्ञापन

देवरिया। विगत दिनों रसड़ा कोतवाली के दक्षिणी चौकी पर पन्नालाल राजभर की पुलिस अभिरक्षा में हुई बर्बर पिटाई से उपजे जनाक्रोश की वजह से 2 तथा 3 सितम्बर को कोटवारी मोड़ पर जनता और प्रशासन के बीच हुयी दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद स्थानीय पुलिस उपनिरीक्षक द्वारा मुकदमा संख्या 139/2020 पंजीकृत कराया गया । जिसमें कुछ स्थानीय लोगो को निर्दोष होते हुए भी फर्जी तरीके से मुकदमे में फंसाया गया । जबकि घटना के समय मौके पर भाजपा मण्डल अध्यक्ष रसड़ा अजीत जायसवाल, विनय गुप्ता, संजय जायसवाल, राजेश गुप्ता सहित कई नेता मौजूद थे, साथ मे बसपा नेता बीरबल राम सहित कई नेता थे , लेकिन पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर स्थानीय उपनिरीक्षक द्वारा सिर्फ राजभर समाज के लोगो को ही एफ० आई० आर० में जानबूझकर नामित किया गया है । जिससे प्रशासनिक लापरवाही स्पष्ट दिखाई देती है। फर्जी तरीके से फंसाए गए निर्दोष लोगो एवं उनके परिवार को पुलिस परेशान कर रही है। चूकि मुकदमा में बादी स्थानीय उपनिरीक्षक है , इसलिए उपरोक्त मामले में न्याय की गुंजाइश शून्य है । इसी विषय को लेकर आज सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेताओं द्वारा उपरोक्त मुकदमे का निष्पक्षतापूर्ण जांच एवं निर्दोष लोगो को न्याय दिलाने के लिए सीबीआई अथवा सीबीसीआईडी द्वारा जांच कराने को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को संबोधित जिलाधिकारी देवरिया द्वारा एक सूत्रीय ज्ञापन भेजा गया, तथा निष्पक्ष कार्यवाही हेतू उपरोक्त जांच के लिए कमेटी गठित कर विवेचना कराने के लिए प्रदेश के मुखिया से मांग किया गया ताकि उपरोक्त प्रकरण में कोई भी निर्दोष गलत न फंसे और न्याय हो सके ।
ज्ञापन देने वाले में सुभासपा के प्रदेश महासचिव अभिनन्दन बरनवाल , जिला अध्यक्ष देवरिया बृजेश राजभर , जिला प्रभारी विरेन्द्र यादव , जिला प्रमुख महासचिव चन्द्रशेखर राजभर गुड्डू, जिला उपाध्यक्ष जालु राजभर, जितेन्द्र राजभर , विपिन राजभर जिला अध्यक्ष आई टी सेल युवा मंच, सुनिता राजभर जिला अध्यक्षा महिला मंच, शम्भू राजभर, रामायण राजभर, नरेन्द्र राजभर, हरीचन्द राजभर, गोरख राजभर, नितिन राजभर, शिवचन कनौजिया, लालचन्द राजभर, जवाहिर राजभर महेन्द्र राजभर मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button