सामूहिक दुष्कर्म की घटना निकली फर्जी

घटना को असली रूप देने के लिए किशोरी के कपड़े में लगा दिया मुर्गा काट कर उसका खून , पुलिस को फर्जी सूचना देने एवं गुमराह करने के आधार पर आरोपित हुआ गिरफ्तार, पुलिस ने किया शांति भंग में चालान .

देवरिया। गौरीबाजार थाना क्षेत्र के एक गांव में फर्जी दुष्कर्म की घटना के मामले में दो लोगो को फसांने का प्रयास किया गया और गौरीबाजार पुलिस को इस संबेदनशील मामले में पूरी तरह से गुमराह किया गया। कहानी को असली रूप देने के लिए किशोरी के कपड़े में मुर्गा काट कर उसका खून लगा दिया गया।
मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात को गौरीबाजार थाना क्षेत्र के एक गांव में 13 वर्षीय एक किशोरी के साथ दो लोगों ने सामुहिक दुष्कर्म किया और जब वह किशोरी बेहोश हो गयी तो आरोपित युवक फरार हो गये। इस घटना के बाद किशोरी के पिता ने बैतालपुर पुलिस चौकी पर घटना की सूचना दी। पुलिस चौकी इंचार्ज ने इस घटना की सूचना गौरीबाजार थाना प्रभारी एवं सीओ रूद्रपुर को दी। बुधवार की सुबह ही गौरीबाजार थाना प्रभारी अश्वनी राय मय फोर्स उस गांव में गये, वहा उन्होंने ग्रामीणों से घटना की जानकारी ली, मामला दो संप्रदायों का था तो गौरीबाजार पुलिस ने गांव में गश्त बढ़ा कर गांव वालो से पूरी घटना की जानकारी ली।
पुलिस ने जब घटना के बावत जानकारी ली तो यह घटना पूरी तरह से फर्जी निकली। गौरीबाजार पुलिस ने भी गलत सूचना देने, पुलिस को गुमराह करने के आरोप में आरोपित युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
गिरफ्तार आरोपित युवक ने बताया की दस दिन पहले धान काटने को लेकर एक युवक से झगड़ा हुआ था। युवक को फसांने के लिए आरोपित युवक अली हुसैन निवासी ग्राम पचलखी, थाना नौतन, जिला सिवान बिहार जो एक कबाड़ी की दुकान पर रहता है ने यह फर्जी घटना रचते हुए इस पूरी फर्जी कहानी को रचकर पुलिस को गुमराह करने का काम किया है। पुलिस ने आरोपित युवक को शांति भंग में चालान कर दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button