राजस्व एवं न्यायिक कार्यो को तत्परता से सुनिश्चित करें पीठासीन अधिकारी

सन्दर्भो एवं सेवानिवृत्त कार्मिकों के लम्बित पेंशन प्रकरणों तथा विभागीय कार्यवाहियों का भी प्रमुखता से कराये निस्तारण-डीएम

देवरिया । राजस्व एवं न्यायिक कार्यो से जुडे पीठासीन अधिकारी अपने कार्य दायित्वों का निवर्हन पूरी निष्ठा के साथ सुनिश्चित करें तथा प्राप्त सन्दर्भो का निस्तारण हर हाल में समयबद्धता के साथ सुनिश्चित किये जाये। कोई भी प्रकरण लम्बित न हो, इसका विशेष रुप से ध्यान रखें जाये।

जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन उक्त आशय के निर्देश गूगल मीट के माध्यम से राजस्व/न्यायिक कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उन्होने संचालित कृषक दुर्घटना बीमा योजना एवं आपदाओं के तहत अहेतुक धनराशियों को दिये जाने में भी किसी भी प्रकार का विलम्ब न किये जायें, बल्कि उसे सभी औपचारिकताओं को पूर्ण करते हुए संबंधितों को राहत के तहत अनुमन्य धनराशियों को उपलब्ध करायें।

जिलाधिकारी ने कहा कि राजस्व एवं न्यायिक कार्यो में भी प्रगति सभी पीठासीन अधिकारी लाये। उन्होने राजस्व कार्यो के तहत पेंशन प्रकरणों, विभागीय कार्यवाहियों के लम्बित प्रकरणो की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि पेंशन प्रकरण में जो भी लम्बित कार्यवाहियां हो, उसे शीघ्रता के साथ निस्तारित करायें और सेवानिवृत्त कर्मी को उसका लाभ दिलाये। साथ ही उप जिलाधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कार्मिकों के प्रति जो भी विभागीय कार्यवाहियां अभी प्रचलित व लम्बित है, उसका भी समाधान तत्कालिक रुप से सुनिश्चित करायी जाये। तहसील सदर में 4 पेशन के लम्बित प्रकरण पाये गये। तहसीलदार सदर को निर्देश दिया गया कि उसका निस्तारण शीघ्रता से करायें।

जिलाधिकारी ने सन्दर्भो के निस्तारण के समीक्षा के तहत निर्देश दिया कि आई0जी0आर0एस0, मुख्यमंत्री आनलाईन सन्दर्भ, शासन एवं आयुक्त सहित उच्चाधिकारियों एवं अन्य किसी भी स्तर से प्राप्त सभी प्रकरणों का समयबद्धता के साथ उसे सभी संबंधित अधिकारी सुनिश्चित करायेगें। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता नही बरतेगें। सन्दर्भो के निस्तारण में गुणवत्ता व वास्तविकता का भी ध्यान रखे जाये। विभागीय कार्यवाहियों के लम्बित प्रकरणों में उन्होने निर्देश दिया कि जिस मामलो में आरोप पत्र/जांच किये जाने हो, उसे जांच अधिकारी प्राथमिकता से सुनिश्चित करायें। मामलें लम्बित नही होने चाहिये, अन्यथा संबंधित की जिम्मेदारी तय की जायेगी।

जिलाधिकारी ने पट्टा आवंटन, भू-अभिलेखो के कम्प्यूटरीकरण, वरासत आदि कार्यो की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिये।
बैठक में एडीएम वित्त उमेश कुमार मंगला, सीआरओ अमृत लाल बिन्द, एडीएम प्रशासन कुवर पंकज, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ सिंह, रुद्रपुर संजीव कुमार उपाध्याय, बरहज संजीव कुमार यादव, सलेमपुर ओम प्रकाश ओम प्रकाश बरनवाल, भाटपाररानी ध्रुव कुमार शुक्ल, तहसीलदार सदर आनंद कुमार सहित अन्य तहसीलो के तहसीलदार अश्वनी कुमार व अन्य संबंधित अधिकारी व कर्मचारी जुडे रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button