दो प्रधानाध्यापक बर्खास्त, फर्जी प्रमाणपत्र पर कर रहे थे नौकरी

भाटपार रानी एवं बैतालपुर के बीईओ को विधिक कार्यवाही का दिया गया निर्देश । मानव संपदा पोर्टल पर प्रमाणपत्रों को अपलोड करने के दौरान हुआ खुलासा

देवरिया : जनपद में एक फर्जी प्रमाणपत्र के मामले में दो प्रधानाध्यापक को बर्खास्त कर दिया गया है।  देवरिया बीएसए ने दो प्रधानाध्यापक को दूसरे के प्रमाणपत्र पर नौकरी करने के मामले में बर्खास्त कर दिया है। मानव संपदा पोर्टल पर प्रमाणपत्रों को अपलोड होने के दौरान मामलें का खुलासा हुआ। अब तक जनपद में 51 शिक्षकों को बर्खास्त किया जा चुका ।

बीएसए संतोष राय ने बताया की संतकबीरनगर जनपद के बघौली क्षेत्र के बाकरगंज प्राथमिक विद्यालय पर बतौर प्रधानाध्यापक तैनात आनंद सिंह पुत्र स्व.लालबाबु सिंह ने 6 सितम्बर को शिकायत की थी । मानव संपदा पोर्टल पर अपनी ओर से अपना डाटा फीड कराने की प्रक्रिया के दौरान पता चला कि पहले से ही उनके नाम से डाटा फीड है। इस संबंध में जब जांच हुआ तो पता चला की संबंधित कोड पर सभी डाटा उनका ही दिखाई दे रहा है।

इसकी शिकायत दर्ज कराई गई तो इसकी गहनता से जांच हुई, शिकायत के आधार पर बैतालपुर क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय बलुहंवा में तैनात प्रधानाध्यापक आनंद कुमार सिंह की नियुक्ति से संबंधित सभी शैक्षिक कागजात की गहनता पूर्वक जांच कराई गयी, साथ ही नोटिस दे कर निर्देश दिया गया कि नियत समय तक अपना पक्ष रखे। लेकिन निर्धारित समय तक वो अपना पक्ष नही रखे।

नोटिस जारी कर शैक्षिक प्रमाणपत्र की सत्यापन का दिया गया निर्देश

जांच में पता चला है कि वह कूटरचित ढंग से सभी शैक्षिक प्रमाणपत्र हासिल कर यहां नौकरी कर रहे थे। आरोपित प्रधानाध्यापक पर एमडीएम खाते से भी जालसाजी कर हस्ताक्षर करके पैसा निकालने के आरोप की पुष्टि हुई है। दूसरा मामला भाटपार रानी में तैनात प्राथमिक विद्यालय विरमापट्टी में तैनात प्रधानाध्यापक सुरेन्द्र प्रताप सिंह के कागजात को मानव संपदा पोर्टल पर फीड करने पर उनके ही नाम और पते श्रावस्ती जिले में एक शिक्षक के तैनाती का पता चला।

इस संबंध में बीएसए श्रावस्ती से बात कर सुरेन्द्र प्रताप सिंह के नियुक्ति से संबंधित सभी शैक्षिक प्रमाणपत्र का जांच व सत्यापन कराया गया। जांच में उनका भी प्रमाणपत्र संदिग्ध पाया गया। उनको भी नोटिस जारी कर अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया गया, मगर तय समय तक वह अपना पक्ष नही रखे, ऐसे में किसी अन्य के शैक्षिक प्रमाणपत्रों के आधार पर नौकरी करने की पुष्टि हुई है।
बीएसए संतोष राय ने बताया कि अध्यापक सेवा नियमानुसार तथा विभागीय नियमों के तहत उन्हे सेवा से बर्खास्त किया जाता है। साथ ही बीईओ को इन दोनो के खिलाफ विधिक कार्यवाही करने का निर्देश दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button