जागरूकता अभियान चला कर सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग बंद कराया जाएगा- उपेन्द्र तिवारी

देवरिया । सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के बजाय इसे स्वच्छ भारत अभियान की तर्ज पर सफल जनांदोलन बनाने के एक लिये हम सभी को एक प्रभावी रणनीति अपनानी होगी। कानूनी प्रतिबंध ही केवल समस्या का समाधान नही है, बल्कि प्लास्टिक कचरे का निस्तारण जरूरत के मुताबिक नहीं हो पाना, मूल समस्या है।केंद्र और प्रदेश सरकार इसके समाधान के लिये प्रयासरत है।
उक्त बातें राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)खेल एवं युवा कल्याण,पंचायतीराज उपेन्द्र तिवारी ने औरा चौरी भाजपा कार्यालय पर जिला पदाधिकारियों की बैठक में कही।उन्होंने कहा भारत में औसतन 30 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा प्रतिदिन निकलता है। इसमें सिर्फ 10 मीट्रिक टन कचरा ही शोधन के लिये एकत्र हो पाता है शेष 20 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरे का प्रबंधन ही सबसे बड़ी चुनौती है। हमें इस चुनौती से निपटने के लिये कार्यकर्ताओ और समाज के जागरूक सदस्यों के साथ मिलकर प्लास्टिक मुक्त अभियान को गति देनी है।प्रधानमंत्री मोदी का सपना है प्लास्टिक मुक्त भारत और भारत प्लास्टिक मुक्त तभी होगा जब हम सभी के साथ-साथ समाज का सहयोग मिले।इसके लिये हम सभी लोगो से इस अभियान पर चर्चा करें, उन्हें जागरूक करें तथा उनसे आग्रह करें कि वे भी लोगो को भारत को प्लास्टिक मुक्त करने में सहयोग देने के लिये प्रेरित करे।आज पर्यावरण प्रदूषण का मुख्य घटक प्लास्टिक है। जनता को जागरूक करने के लिए उन्हें इसकी शुरूआत पहले अपने घर से, गली से, मुहल्ले से, अपने कार्यालय से, अपने गांवों से करने के लिये आग्रह करें तब जाकर यह अभियान एक जनांदोलन का रूप लेगा और भारत प्लास्टिक मुक्त होगा।
भाजपा जिलाध्यक्ष अन्तर्यामी सिंह ने राज्य मंत्री का स्वागत करते हुये सभी पदाधिकारियों से उनका परिचय कराया। बैठक में गंगा कुशवाहा,अरुण सिंह,संतोष त्रिगुणायक, अजय शाही, उषा पासवान, प्रमोद शाही, श्रीनिवास मणि त्रिपाठी, डा. हेमंत मिश्रा, निर्मला गौतम शिवकुमार राजभर, रामाज्ञा चौहान, अम्बिकेश पाण्डेय, मारकंडेय गिरी रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button