विनीत शारदा अग्रवाल ने वर्चुअल बैठक के माध्यम से सुनी व्यापारियों की समस्यायें

देवरिया । रविवार को भारतीय जनता पार्टी व्यापार प्रकोष्ठ उत्तर प्रदेश की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक विस्तृत बैठक हुई । बैठक की अध्यक्षता भारतीय जनता पार्टी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विनीत अग्रवाल शारदा ने तथा संचालन प्रवीण अरोड़ा ने किया । बैठक की प्रस्तावना रखते हुए प्रदेश के सह संयोजक सुनील रामा ने कहा पिछले 11 मई की बैठक में आई सभी समस्याओं का हमारे प्रदेश संयोजक विनीत अग्रवाल शारदा के द्वारा करवाया गया, साथ ही आज की बैठक में व्यापार प्रकोष्ठ तन मन धन के साथ जनता की सेवा करें ऐसा आह्वान किया गया ।
बैठक की अध्यक्षता करते हुये मुख्य वक्ता विनीत अग्रवाल शारदा ने सबसे पहले केंद्र सरकार के गौरवपूर्ण 7 वर्ष पूर्ण होने पर सभी व्यापारियों, कार्यकर्ताओं एवं मतदाताओं को बधाई दी । व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा इस भयंकर महामारी में जिस प्रकार केंद्र और राज्य की सरकार दिन रात कार्य कर रही है वह वास्तव में प्रशंसा के काबिल है इतनी बड़ी जनसंख्या के उत्तर प्रदेश को जिस प्रकार प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री संभाल रहे हैं ऐसा कोई और उदाहरण नहीं मिला है। कोरोना में विभिन्न तरह की समस्याओं को प्रदेश के मुख्यमंत्री स्वयं दौरे करके अधिकारियों की बैठक करके सुलझा रहे हैं और समाज के प्रत्येक वर्ग को राहत देने का काम कर रहे हैं वह प्रशंसनीय हैं ।
भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विनीत शारदा ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोरोना वायरस ने से परिजनों को गंवाने वाले बच्चों की जिम्मेदारी लेने का जो कार्य किया है उसके लिए वह उनका अभिनंदन करते हैं ।

व्यापारियों की समस्याओं के निवारण की उठाई माँग

विनीत अग्रवाल शारदा ने कहा इस करुणा महामारी में संसार के साथ पूरे भारत में उत्तर प्रदेश की जनता भयभीत एवं त्रस्त है इसके बावजूद मेरा देश और प्रदेश का व्यापारी तन मन धन के साथ देश के प्रधानमंत्री एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री के एक आह्वान पर भामाशाह का रूप बनकर प्रकट हुआ इसके लिए मैं अपने सभी व्यापारियों का दिल से अभिनंदन एवं धन्यवाद करता हूं और सरकार से यह मांग करता हूं आज की और पिछली बैठक में उठाई गई प्रदेश के व्यापारियों की मांग के अनुसार देश एवं प्रदेश के व्यापारियों को जीएसटी में पंजीकृत व्यापारियों को 10 लाख का बीमा सुनिश्चित किया गया है, मुख्यमंत्री व्यापारी दुर्घटना बीमा जो वाणिज्य कर विभाग लागू है दुर्घटना में मृत्यु अथवा हत्या पूर्ण विकलांगता वह आंशिक निकलता को लिया गया है अतः मेरा भारत के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है कि इस बीमा योजना में कोरोना ब्लैक फंगस जैसी घातक महामारी को सम्मिलित किया जाए तथा गंभीर बीमारियों कैंसर, हार्टअटैक, किडनी फेलियर आदि को भी सम्मिलित किया जाए । इन गंभीर बीमारियों के इलाज का खर्चा केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा वहन किया जाए तो इससे पीड़ित व्यापारी को अपने परिवार के पालन पोषण में मदद मिलेगी ।
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में करुणा महामारी से गोलोक वासी होने वालों में सर्वाधिक संख्या व्यापारियों की है आपसे निवेदन है कि जीएसटी में पंजीकृत व्यापारियों के आश्रितों को ₹2000000 (बीस लाख) की आर्थिक सहायता दी जाए इसके साथ ही जो व्यापारिक प्रतिष्ठान जीएसटी में पंजीकृत नहीं है लेकिन उनके पास विद्युत कमर्शियल कनेक्शन है तथा तथा श्रम विभाग में पंजीकृत हैं उनके आश्रितों को ₹1000000 (10लाख) की आर्थिक सहायता प्रदान की जाए । इसके साथ शारदा ने कहा कि प्रदेश में व्यापारियों के वैक्सिनेशन हेतु अलग से व्यवस्था की जाए जिससे व्यापारी और उनका परिवार इस महामारी से सुरक्षित रह सकें । शारदा ने कहा प्राइवेट नर्सिंग होम, सरकारी अस्पताल में जहां करोना ब्लैक फंगस का ट्रीटमेंट किया जा रहा है वहां सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था लागू की जाए और एक दो या अधिकतम चार अस्पतालों के ऊपर नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए । शारदा ने मांग किया कि कोरोना काल में जिन नर्सिंग होम और अस्पतालों ने प्रदेश सरकार द्वारा निर्धारित राशि से अधिक राशि मरीजों से ली है उन पर कार्यवाही करते हुए अस्पतालों से वह राशि परिवार जनों को वापस दिलवाई जाए व जो अधिकारी व्यापारियों का शोषण कर रहे हैं उन पर लगाम लगाई जाए, उन अधिकारियों को दंडित किया जाए जिससे व्यापारी और जनता में सरकार की छवि बनाई जा सके। शारदा ने बिगड़ैल अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि यह सपा या बसपा की सरकार नहीं है यह मोदी और योगी की सरकार है इसमें व्यापारियों का शोषण और उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा । वह अधिकारी चेत जाएं जो हमारी सरकार की छवि धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं या सपा बसपा की मानसिकता से काम कर रहे हैं उनको किसी हाल में छोड़ा नहीं जाएगा ।पश्चिम क्षेत्र के संयोजक महेंद्र धनौरिया, ब्रज क्षेत्र के संयोजक डॉक्टर सुधीर गुप्ता, अवध क्षेत्र के संयोजक अनूप गुप्ता, काशी क्षेत्र के संयोजक राजकुमार शर्मा, गोरखपुर क्षेत्र के संयोजक अजय अग्रवाल व देवरिया जिला संयोजक सुबोध जायसवाल व भलुअनी मंडल संयोजक सन्तोष मद्धेशिया ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में लॉकडाउन में व्यापारी बहुत त्रस्त है और अपना खर्चा चलाने में सक्षम नहीं है अतः जल्द ही अनलॉक की प्रक्रिया की जाए । व्यापारी को बिजली के बिल एवं बैंक की ई एम आई में और जीएसटी में विशेष छूट दी जाए । व्यापारीयों का साफ कहना है कि अधिकारियों द्वारा उत्पीड़न को रोका जाए सरकार की छवि व्यापारी वर्ग में खराब हो रही है । अलीगढ़ से सौरभ, आगरा से विनय सिंह, प्रयाग से अरुण केसरवानी, मऊ से संजय वर्मा, लखनऊ से प्रदीप गुप्ता, झांसी से मनमोहन गेड़ा ने व्यापारी वर्ग की समस्याओं से अवगत करवाया । लखनऊ जिला संयोजक अभिषेक खरे, हापुड़ जिला सह संयोजक पुनीत गोयल, सहारनपुर संयोजक शेखर ठकराल, पवन अग्रवाल फर्रुखाबाद, मेरठ से अरविंद गुप्ता, अमरोहा से मनोज वर्मा ने व्यापारियों की समस्याओं से अवगत करवाते हुए कहा कि अधिकारियों का व्यवहार अच्छा नहीं है इसमें सुधार की आवश्यकता है। निजी अस्पतालों पर नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए। 5000 से ₹10000 बाइक चालकों से अवैध वसूली की जा रही है इसे रोका जाए। बैठक का समापन प्रदेश सह संयोजक राजेश मसाला ने किया । इस वर्चुअल बैठक में मनोज मद्धेशिया, मोनू शाही, कपूरचंद गुप्ता, बंटी दीक्षित, राजकुमार, पंकज आदि व्यापारियों ने भाग लिया ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button